अपने बिजनेस का प्रचार यानी advertis कैसे करें ओर क्या आँफर दे ग्राहक को आकर्षित करने के लिए

वैसे तो लोग हमेशा यही कहते हैं, कि दुनिया जिस तरफ जाती है, हमें भी उसी तरफ जाना चाहिए, ओर समय के साथ चलना चाहिए। पर जब बात आती है विज्ञापन ओर प्रचार की, यानी advertising की, तो दुनिया के साथ चलने से आपको उतना फायदा नही होगा जितना की होना चाहिए। advertising का response तब सबसे बेहतर मिलेगा, जब आप दुनिया से अलग कुछ करेंगे। हमारे काँम्पिटेटर जो offer ओर discount देते हैं, हमें वही offer or discount कुछ अलग तरीके से देने होंगे। तब जाकर लोग आपके product ओर business ki तरफ आकर्षित होंगे।
पुजा सामग्री का बिजनेस शुरू करें सिर्फ २ लाख रुपये से

जब मे छोटा था लगभग १३ साल का, तब एक व्यक्ति ने मुझसे कहा कि क्या तुम मुझे एक सवाल का जवाब दे सकते हो। तो मेने उनसे सवाल पूछने को कहा। उनका सवाल था कि जब मैं आफिस जाता हूँ, तो लगभग ९० मिनट में आफिस पहुंच जाता हूँ। लेकिन छुट्टी होने के बाद श्याम को घर लौटते वक्त डेढ़ घंटा लग जाता है ऐसा क्यूॽ उस वक्त मैं सोच में पड़ गया कि ऐसा कैसे हो सकता है। कुछ देर सोचने के बाद समझ आया कि ९० मिनट ओर डेढ़ घंटा एक ही समय होता है। बस मुझे गुमराह करने के लिए ही उन्होंने बात को अलग ढंग कहा। ये तो उन्होंने मुझसे सवाल किया था इसलिए मैंने गहराई से सोचा ओर जवाब मिल गया। पर यदि यूँ ही ये बात कही होती तो मैं बिना सोचे समझे मान लेता। तो यही समझ लीजिए की ग्राहक को कुछ खरीदना होता है तो उसका मन भी बच्चा ही होता है। ओर उसे कुछ अलग तरीके से आँफर दे जैसा कोई नहीं देता हो।
Business KO promote keise kare
क्यू चले दुनिया से उल्टाॽ इसी लिए मैं advertising के लिए दुनिया से उल्टा चलने के लिए कहुंगा। क्योंकि मान ले की एक ही दिशा में लाखों लोग दौड़ रहे हैं। और आप भी उनके साथ उसी दिशा की ओर दौड़ेंगे तो आपको कितने लोग देख पाएंगे। मेरे हिसाब से तो आपको वो लोग भी नहीं देख पाएंगे जो आपको जानते हैं। शायद उन्हें उस भीड़ में आपको ढूंढना पड़ेगा देखने के लिए की आप कहां पर है। या मान ले की लोग पूर्व से पच्छिम की ओर दौड़ रहे हैं, और आप पच्छिम से पूर्व की ओर, तो सिर्फ अन्दाजा लगा लीजिए  की आपको कितने लोग देखेंगे। ओर advertis करने का मकसद भी यही होता है कि आप लोगों कि नजरों में रह सकें।
Business ko promote keise kare

क्या करते हैं सोने के व्यवसाय वालेॽ
मेने कई बार देखा है, कि सोने का व्यवसाय करने वाली कंपनीयां, ओर छोटे मोटे दुकानदार, कोई भी त्योहार आने पर या तो मजूरी पर ५० फीसदी छूट देते हैं या फिर no making का आँफर देते हैं। लेकिन यह आँफर तो सभी दुकानदार ओर शोरूम वाले दे रहे हैं। इसमें ग्राहक को आकर्षित करने वाली कौनसी बात है। लेकिन यदि दुकानदार मजूरी में जो छूट देते हैं वो न देकर वहीं छूट सोने के भाव में दे तो कैसा रहेगा। मेरे कहने का मतलब है, कि १० ग्राम सोने में यदि आप ४००० रुपये मजूरी कि छूट देते हैं वो न देकर सोने के भाव में १० ग्राम से ज्यादा की खरीदी करने वाले ग्राहकों को ४००० रुपये कि छूट दे तो। ग्राहक को यह बात पता चले कि सोने का भाव ३०००० रुपये प्रति १० ग्राम है उसमें ४००० रुपये कि छूट मिल रही है। यानी कि २६००० रुपये प्रति १० ग्राम में सोना मिल रहा है। तो ग्राहक पागलों की तरह भागते हुए आपके पास आएगा। ओर वो ४००० रुपये कि छूट पाने के लिए १० ग्राम से कम की बजाय १० ग्राम से ज्यादा सोना खरीदेगा। या ऐसा भी कर सकते हैं कि १० ग्राम सोने पर २००० रुपये कि छूट ओर २० ग्राम पर ६००० ओर ३० ग्राम पर १२००० रुपये कि छूट मिल रही है। ये भी जरूर पडे  How to promote your business oneline and offline

यदि ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताए ओर अपने दोस्तों के साथ भी शैर करें। ओर भी अच्छी अच्छी जानकारी पाने के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्रायब करें धन्यवाद।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Good jewellery business keise kare? how to start a gold jewellery business? सोने के आभूषणौ का बिजनेस कैसे करै?

How to start a gold jewellery business gold jewellery business kese shuru kare?

How to selling gold jewellery business selling kese kare?